कदम 28: यीशु मसीह फिर आएंगे

प्रभु यीशु मसीह जीवित हैं, और शिष्य अति प्रसन्न हुए जब वे प्रगट हुए | चालीस दिनों तक उन्हों ने शिष्यों को परमेश्वर के राज्य के बारे में बताया, और शीघ्र ही समय आ गया जब वे शिष्यों को छोड़कर जाने वाले थे | फिर जैसा सब लोग देख  रहे थे यीशु स्वर्ग चले गए और बादलों ने उनको ढांप लिया |शिष्य यीशु मसीह को आसमान में जाते देख रहे थे | अचानक सफ़ेद कपड़े पहने दो स्वर्ग दूत उनके दायें और बायें खड़े हो गये |उन्हों ने कहा आसमान की ओर क्यों देख रहे हो | जैसा आपने उन्हें स्वर्ग जाते देखा वैसे ही वे वापिस आएंगे |विश्वासिओं के लिए अद्भुत बात यह है कि यीशु मसीह फिर से वापिस आएंगे |

बाइबिल हमें बताती है:

  • प्रभु यीशु के दूसरे आगमन के बारे में, वे तुरही की आवाज के साथ, महिमा में आएंगे और हर एकआँख उन्हें देखेगी |
  • वे राजाओं के राजा बन कर आएंगे और न्याय और दया के साथ राज करेंगे |
  • वे सारे परमेश्वर के बच्चों को इकट्ठा करेंगे |
  • जिसने भी उन्हें अपना मुक्ति दाता ग्रहण नहीं किया उनके लिए वे न्यायाधीश की तरह पेश आएंगे |

बाइबिल कहती है – आशीर्वाद, विश्वास और अद्भुत मुक्ति दाता प्रभु यीशु मसीह हैं | हम उनके आने का इंतजार कर रहे हैं | उन्हों ने कहा सावधान रहो और प्रार्थना करते रहो |प्रकाशित वाक्य मैं लिखा है कि – यीशु ने प्रतिज्ञा की, “कि निश्चय, मैं जल्दी आ रहा हूँ ” |  हम ने आनंद से उत्तर दिया “आइये प्रभु यीशु” |

प्रार्थना : प्रभु यीशु, आपके आने की हम राह देख रहे हैं | आप से विनती करते हैं कि हमें तैयार कीजिये|

Leave a Reply

Your email address will not be published.